शेयर मार्केट टिप्स हिंदी में

शेयर मार्केट टिप्स हिंदी में – Sky Stock Mart

शेयर मार्केट टिप्स हिंदी में – Sky Stock Mart

क्या आप शेयर मार्केट से करोड़पति बनना चाहते है? यदि आप ट्रेडिंग के लिए आश्वश्त है तो उससे पहले कुछ महत्वपूर्ण टिप्स (share market tips in hindi) के बारे में जरूर पता होना चाहिए। तो आइये शुरू करते है शेयर मार्केट की कुछ बेसिक जानकारी के साथ।

अब जिन कम्पनीज के शेयर स्टॉक एक्सचेंज में लिस्टेड होती है उसमे आप शार्ट-टर्म ट्रेड और लॉन्ग टर्म निवेश कर सकते है। जिस तरह से ट्रेडिंग और निवेश के उद्देशय और मुनाफे अलग-अलग होते है उसी तरह से टिप्स भी अलग होती है। शेयर मार्केट टिप्स हिंदी में 

जिन शेयर बाजार के नियम का पालन कर आप निवेश कर रहे है ज़रूरी नहीं है की ट्रेडिंग के लिए भी वो ही नियम लाभदायक हो।

भी व्यक्ति या ट्रेडर शेयर मार्केट में प्रवेश करने से पहले एक निवेश लक्ष्य निर्धारित करता है। कुछ निवेशकों को कम समय में अधिक रिटर्न की अपेक्षा करते है और कुछ लॉन्ग-टर्म प्लान बनाते है।

एक ट्रेडर को मुनाफे के लिए और निवेशकों को अधिक रिटर्न पाने के लिए शयरों के बारे में पर्याप्त जानकारी होनी चाहिए, ताकि भविष्य में किसी भी नुकसान का सामना ना करना पड़े।

शेयर मार्केट टिप्स हिंदी में 

यहाँ पर हम इन्वेस्टमेंट और ट्रेडिंग दोनों के लिए अलग-अलग share market tips in hindi के बारे में विस्तार में चर्चा करेंगे।

Share Market Investment Tips in Hindi

शेयर मार्केट में निवेश करने का मतलब है किसी कंपनी और उसके बिज़नेस में इन्वेस्ट करना। अब जब आप किसी बिज़नेस में अपना पैसा लगा रहे है तो उसके लिए उस कंपनी के आज तक की पूरी जानकारी होना काफी आवश्यक है, साथ ही उस कंपनी में वर्तमान में क्या चल रहा है और आने वाले समय में उस कंपनी ने ग्रोथ के लिए क्या योजनाए बना रखी है।

शेयर मार्केट टिप्स हिंदी में 

यहाँ पर निवेश से जुड़ी कुछ टिप्स दी गयी है जो आपको एक सही इन्वेस्टमेंट करने में मदद करेगी।

1. निवेश लक्ष्य निर्धारित करें

Share Market Tips in Hindi में पहला सुझाव यह है की एक निवेशक को सबसे पहले निवेश लक्ष्य (इंवेस्टमेंट टारगेट) करना चाहिए। किसी भी निवेश को शुरू करने से पहले, आपको निवेश के लिए एक लक्ष्य निर्धारित करना होगा।

मुफ्त में डीमेट अकाउंट ओपन करे 

और लक्ष्य आप कब निर्धारित कर सकते है जब आपको ये जानकारी है कि वह कंपनी में जिस वजह से आप निवेश कर रहे है उससे वह कंपनी कब तक ग्रो कर सकती है। जैसे की आज का समय स्मार्टफोन्स का है तो अगर कोई कंपनी स्मार्टफोन बना रही तो वह ग्रो कर रही होगी और अपने शेयरधारको को अच्छा रिटर्न दे रही होगी।

लेकिन क्या आज से 5-10 साल बाद आप ग्रोथ अपेक्षा कर सकते है?

शेयर मार्केट टिप्स हिंदी में 

टेक्नोलॉजी में आये दिन कुछ न कुछ बदलाव और डिमांड आती रहती है इसके चलते जो कंपनी आने वाले 2-4 सालो में तो आप निवेश कर अच्छे रिटर्न की उम्मीद कर सकते है लेकिन उससे आगे अगर कंपनी कोई नयी तकनीक का इस्तेमाल नहीं करती है तो हो सकता है उसमे आप एक निर्धारित समय के बाद ज़्यादा मुनाफा या रिटर्न की अपेक्षा नहीं कर सकते। मुफ्त में डीमेट अकाउंट ओपन करे 

दूसरी तरफ अगर ग्रीन एनर्जी जैसे कम्पनीज को देखे तो उसमे अभी हो सकता है आपको कुछ ज़्यादा अच्छा प्रदर्शन न दिखे लेकिन आने वाले समय में आप उसमे ज़्यादा रिटर्न की उम्मीद कर सकते है। तो अगर आप आज किसी ऐसे कंपनी का चयन करते है तो आपको कम से कम उससे 5 साल या उससे अधिक समय तक होल्ड करके ही अच्छा रिटर्न कमाने का मौका प्राप्त होगा।

शेयर मार्केट टिप्स हिंदी में

2. न्यूनतम राशि शेयर बाजार में निवेश करने के लिए

लक्ष्य निर्धारित करने के साथ आप कितने पैसे के साथ शेयर मार्केट में निवेश करना चाहते है वह तय करना भी काफी आवश्यक है। वैसे तो आप 100 रुपये से भी मार्केट में निवेश या ट्रेड कर सकते है लेकिन अगर आप ज़्यादा रिटर्न कमाना चाहते है तो उसके लिए एक सही मूल्य के साथ निवेश करना ज़रूरी है।

वैसे तो निवेश कब और कितने कैपिटल के साथ करना चाहिए उसके लिए कई पहलुओं पर ध्यान देना होता है लेकिन अगर आप एक सही शुरुआत चाहते है उसके लिए एक आसान सी स्ट्रेटेजी का पालन कर सकते है, जिसके अनुसार आप अपनी आयु को 100 से घटाए।

अब जो वैल्यू आपके सामने आता है अपनी नेट वर्थ के उतने प्रतिशत राशि के साथ आप शेयर मार्केट में निवेश कर सकते है।

3. फंडामेंटल एनालिसिस करें

अब हर टेक्नोलॉजी कंपनी या हर ग्रीन एनर्जी वाली कंपनी आपको एक जैसा रिटर्न नहीं दे सकती और साथ ही इन सेक्टर में आने वाली हर कंपनी लाभदायक भी नहीं हो सकती। तो इसका निर्णय कैसे ले कि किस सेक्टर की कौन सी कंपनी बेहतर है?

शेयर मार्केट टिप्स हिंदी में

उसके लिए आता है कंपनी का मौलिक विश्लेषण। मौलिक यानी की फंडामेंटल एनालिसिस आपको कंपनी की सभी वैल्यू, प्रॉफिट, रेवेनुए, क़र्ज़ आदि की जानकारी प्रदान करता है। साथ ही वह कंपनी में आने वाले समय में कितने ग्रोथ की अपेक्षा है उससे भी अवगत करवाता है।

एक तरह से कंपनी के अच्छे-बुरे सभी बातो की जानकारी हासिल करने के लिए एक जरिया है। मुफ्त में डीमेट अकाउंट ओपन करे 

इसके लिए आपको कंपनी और उसके बिज़नेस की डिटेल में एनालिसिस करनी होती है और अलग-अलग रेश्यो की गणना करती होती जो आपको अंत में एक सही निर्णय लेने में मदद करता है। इसको आसान बनाने के लिए आप पहले शेयर मार्केट एनालिसिस कर सकते है, यानी की इंडेक्स की जानकारी प्राप्त कर सकते है।

इससे आप किन सेक्टर में तेज़ी और मंदी चल रही है उसकी जानकारी प्राप्त कर सकते है और उसके अनुसार स्टॉक का विशेषण कर सकते है।

4. निवेश में विविधता लाएं

अब कभी भी सारा पैसा किसी एक ही स्टॉक या कंपनी में लगा देना एक निवेशक की पहचान नहीं होती है।

आपको शेयर मार्केट में अलग-अलग निवेश के ऑप्शन मिलते है  जैसे की इक्विटी शेयर्स, म्यूच्यूअल फण्ड, बांड आदि। साथ ही मार्केट में इतने सारे सेक्टर है, आप अलग-अलग इन्वेस्टमेंट विकल्प को चुन सकते है या फिर जो सेक्टर आने वाले समय में आपको ज़्यादा रिटर्न दे सकते है उनके अलग-अलग स्टॉक का चयन कर उसमे निवेश करने की योजना बना सकते है।

इससे निवेशक को एक अच्छी और संतुलित पोर्टफोलियो बनाए रखने में मदद मिलती है। एक विविध पोर्टफोलियो बेहतर रूप से अस्थिरता के प्रभाव का संभाल सकता है, क्योंकि अक्सर एक सेक्टर का डाउनट्रेंड दूसरे के लिए अपट्रेंड का कारण बनता है।

 

ONE STEP AWAY